30 में केवल एक को नौकरी, अब लगा रहे बेरोजगारी भत्ते का मरहम

Mar 04, 2019

30 में केवल एक को नौकरी, अब लगा रहे बेरोजगारी भत्ते का मरहम

उद्योग विहार (मार्च-2019) नई दिल्ली। बेरोजगारी भत्ता देने की नई सरकार की घोषणा के बाद रोजगार कार्यालय में पंजीयन कराने के लिए बेरोजगारों में होड़ मची है। ऑनलाइन पंजीयन कराने के लिए युवा च्वाइस सेंटर का भी रुख कर रहे हैं। आंकड़ें पर गौर करें तो स्थिति बेहद चिंताजनक है। केवल रायपुर शहर में ही एक लाख से ज्यादा लोग बेरोजगारी की मार झेल रहे हैं। जिला रोजगार कार्यालय में एक लाख पांच हजार लोगों का जीवंत पंजीयन है। बेरोजगारी दूर करने के लिए प्राइवेट कंपनियों के प्लेसमेंट कैंप का आयोजन किया जा रहा है, लेकिन इसमें तीन साल में केवल 3213 लोगों को ही काम मिल सका है। यानी औसतन हर 30 बेरोजगार में केवल एक को नौकरी मिली। नई सरकार का बेरोजगारी भत्ता देने का एलान बेरोजगारी के घाव पर मरहम की तरह है। उप संचालक एओ लारी का कहना है कि जीवंत पंजीयन के आकड़े में फिलहाल कोई खास बढ़ोतरी नहीं हुई है।

यह भी पढ़े

बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स की इस,जानने के लिए लिंक पे क्लिक करे http://uvindianews.com/news/this-third-eye-of-the-border-security-force-will-not-escape-the-pakistani-intruder

प्लेसमेंट के जरिए ज्यादा से ज्यादा लाभ पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। 2015 से अब तक 226 कैंप जिला रोजगार कार्यालय की ओर से 2015 से अब तक 226 बार प्लेसमेंट कैंप का आयोजन किया गया। इस बीच प्लेसमेंट कंपनियां कुल 46 हजार रिक्तियां लेकर आईं। इन कैंपों में 37 हजार से ज्यादा युवा पहुंचे थे, लेकिन सिर्फ 3213 ही लाभान्वित हुए। यानी लगभग साढ़े 11 फीसद को नौकरी मिली। गिनती केलोगों को नौकरी देकर प्लेसमेंट कंपनियों ने वाहवाही लूटी। जिन्हें नौकरी मिली, उनसे प्लेसमेंट चार्ज भी वसूला गया। 2015 में बंद हुआ भत्ता जीवंत पंजीयन वालों को बेरोजगारी भत्ता देने का प्रावधान 2015 में खत्मकर दिया गया था। नई सरकार का बेरोजगारी भत्ता देने का आदेश अभी रोजगार कार्यालय में नहीं पहुंचा है। इसका मापदंड क्या होगा, किस कैटेगरी के युवा लाभ ले सकेंगे, कुछ तय नहीं है। आइटी सेक्टर के लिए उमड़ी भीड़ मेडिकल कॉलेज परिसर स्थित ऑडिटोरियम में जिला रोजगार कार्यालय की तरफ से कंप्यूटर डिप्लोमा, साफ्टवेयर इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुके युवाओं को इन्फार्मेशन टेक्नोलाजी सेक्टर में नौकरी दिलाने के लिए बड़े प्लेसमेंट कैंप का आयोजन किया गया। सुबह 11 बजे से आयोजित कैंप में सैकड़ों की संख्या में युवा पंजीयन कराने पहुंचे। बड़ी साफ्टवेयर इंजीनियरिंग कंपनी के इस कैंप में युवाओं ने कैरियर गाइडेंस पर सवाल कर अपनी उलझनें दूर की। योग्यता के आधार पर कंपनी ने रजिस्ट्रेशन और फिर भर्तियां करने का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़े

नोएडा में अपैरल पार्क बनने के बाद कम से कम 5 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा। जिसमे से 70 प्रतिशत महिलाओं को इसका लाभ मिलेगा।,जानने के लिए लिंक पे क्लिक करे http://uvindianews.com/news/after-developing-an-apparel-park-in-noida-at-least-5-lakh-people-will-get-employment-70-percent-of-which-would-benefit-women

 

 

आपकी राय !

क्या जम्मू कश्मीर के निवासी धारा 370 और 35 A के हटने के बाद अपने को भारत का अविभाज्य अंग मान रहे हैं ?

मौसम