यूपी में पांच हजार कंपनियां डिफाल्टर

Feb 18, 2019

यूपी में पांच हजार कंपनियां डिफाल्टर

पीएफ खाताधारकों के केवाईसी लिंक सही कराने वाली कंपनियों पर ईपीएफओ ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। 2 अक्टूबर की डेडलाइन खत्म होने के बाद उत्तर प्रदेश में पांच हजार कंपनियों को डिफॉल्टर घोषित कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। दरअसल, इन कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के पीएफ खातों में आधार कार्ड, बैंक खाता और मोबाइल नंबर नहीं दर्ज किए जबकि उन्हें नोटिस के जरिये सितंबर में ही अंतिम चेतावनी जारी कर दी गई थी। अब ईपीएफओ इनके खिलाफ क्षेत्रवार सीजेएम कोर्ट में मुकदमा दाखिल करेगा। सबसे ज्यादा गड़बड़ी वाले पीएफ वाले पीएफ खाते कानपुर, नोएडा, मेरठ और लखनऊ की कंपनियों के मिले हैं। इन शहरों की कंपनियों ने अंशधारकों के केवाईसी लिंक करने का काम ही नहीं किया है। ईपीएफओ के क्षेत्रीय आयुक्त वीवीबी सिंह ने डिफॉल्टर कंपनियों के खिलाफ सीजेएम कोर्ट में मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। कानपुर सीजेएम कोर्ट में डेढ़ दर्जन कंपनियों के खिलाफ केस दर्ज हो चुका है। इसमें चार हजार जुर्माना और एक साल की सजा का प्रावधान है।

यह भी पढ़े

इस वित्त वर्ष में वेतन से ज्यादा होगा पेंशन का भुगतान: वित्त मंत्रालय,जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे http://uvindianews.com/news/payment-of-pension-will-be-more-than-salary-in-this-financial-year-ministry-of-finance

आपकी राय !

Gujaraat में अबकी बार किसकी सरकार?

मौसम