सरकार ने बढ़ाया 7 साल के अंदर मृत कर्मचारियों के आश्रितों का पेंशन

Sep 25, 2019

सरकार ने बढ़ाया 7 साल के अंदर मृत कर्मचारियों के आश्रितों का पेंशन

सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के परिजनों को बड़ी राहत दी है. जिन कर्मचारियों की 7 साल की सेवा पूरी करने से पहले ही मौत हो गई हो, उनके परिजनों के लिए पेंशन बढ़ाने का निर्णय लिया गया है. पेंशन का यह संशोधित नियम सरकारी कर्मचारियों पर लागू होगा जिनमें केंद्रीय सशस्त्र बल के कर्मी भी शामिल हैं.

केंद्र सरकार ने सेंट्रल सिविल सर्विसेज (पेंशन) रूल्स, 1972 के नियम संख्या 54 में बदलाव किया है और यह बदलाव 1 अक्टूबर, 2019 से लागू हो जाएगा. बदले हुए नियम के मुताबिक 7 साल से कम की सेवा के बीच ही निधन हो चुके कर्मचारियों के परिजनों को अगले 10 साल कर्मचारी की अंतिम सैलरी का 50 फीसदी हिस्सा पेंशन के रूप में दिया जाएगा.

पहले नियम यह था कि सात साल से ज्यादा की सर्विस पूरी करने वाले कर्मचारी की यदि मौत हो जाती है तो उसके परिजन को तो अंतिम सैलरी का 50 फीसदी हिस्सा पेंशन के रूप में मिलता था, लेकिन सात साल से कम सेवा वाले कर्मचारी की यदि मौत होती तो उसके परिजन को कर्मचारी की अंतिम सैलरी का 30 फीसदी हिस्सा ही मासिक पेंशन के रूप में मिलता था.

कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय ने एक बयान में कहा है, 'सरकार यह मानती है कि ऐसे कर्मचारी जिनका नौकरी के शुरुआती दौर में ही निधन हो जाता है, उनके परिवार को पेंशन ज्यादा रेट से देने की जरूरत है, क्योंकि शुरुआती दौर में कर्मचारी की सैलरी कम होती है. अब संशोधित नियम 54 के मुताबिक जिन सरकारी कर्मचारियों की नौकरी ज्वाइन करने के सात साल के भीतर मौत हो जाती है, उनके परिवार को भी बढ़ी हुई रेट, अंतिम वेतन के 50 फीसदी तक पेंशन अगले 10 साल तक दिया जाएगा.'

गौरतलब है कि हाल में मोदी सरकार ने कर्मचारियों के हित में कई कदम उठाए हैं. सरकार ने रेल कर्मचारियों को 78 दिनों का बोनस देने का फैसला किया है. इस बार रेलवे के 11 लाख 52 हजार कर्मचारियों को 78 दिन का बोनस दिया जाएगा. इस पर रेलवे का 2024 करोड़ रुपये का खर्च आएगा. पिछले 6 साल से लगातार रेलवे कर्मचारियों को केंद्र सरकार बोनस देती आ रही है. 

यह भी पढ़े-

भारत विकास परिषद गाजियाबाद मुख्य शाखा द्वारा गुरु वंदन-छात्र अभिनंदन का आयोजन, जानने के लिए लिंक पे क्लिक करे http://uvindianews.com/news/india-development-council-ghaziabad-main-branch-organizes-guru-vandan-student-reception

आपकी राय !

क्या आपको लगता है भारत देश कोरोना से जीतेगा ?

मौसम