करोड़ों आमदनी वाली महिला वैन में करती है जीवन यापन, आलीशान हवेली छोड़ने की वजह सुन रह जाएंगे दंग

Feb 23, 2024

Trending News: कैटरीन नामक महिला का कहना है कि, यह मेरा सबसे बढ़िया फैसला है. मैं एक विशाल महल में रहकर खुद को अकेला महसूस कर रही थी.

Trending News: दुनिया में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है, जिसे अमीर बनने की इच्छा नहीं होती है. हर इंसान पैसे के लिए ही दिन-रात काम करता है. जिससे उनके पास अधिक पैसे हो और वह अमीरों की गिनती में आए. साथ ही उनकी हर जरूरतें बहुत ही आसानी से पूरी हो सके. मगर एक महिला जिसकी उम्र 36 साल है, उनकी तमन्ना तो कुछ और है.

दरअसल कैटलिन नामक महिला के पास करोड़ों की संपत्ति के अलावा आलीशान बंगला हुआ करता था. लग्जरी कार उनके लिए कुछ भी नहीं था. मगर हैरान करने वाली बात ये है कि, अब यह महिला जानबूझकर वैन में जीवन-यापन करती हैं. इनता ही नहीं उनका कहना है कि, ये मेरा बढ़िया फैसला है.

न्यूयॉर्क की रहने वाली कैटलिन अपने हसबैंड के साथ फ्लोरिडा की शानदार हवेली में रहती थी. उनकी हवेली आठ मंजिल वाली थी, जिसके अंदर राजा महाराजा की तरह तमाम चीजें मौजूद थी. उनका खुद का एक अच्छा कारोबार था. इसी बीच साल 2022 के मई में उनके पति के साथ उनका तलाक हो गया था. जिसके बाद वह पूरी तरह टूट गई थी.

उन्होंने अपनी सारी संपत्ति बेचने का निर्णय लिया. वह एक ऐसा जीवन जीना चाहती थी, जहां जीने में अधिक शांति महसूस हो सके. इसके लिए कैटलिन ने 70 लाख की मर्सिडीज स्प्रिंटर वैन खरीदी. इसके बाद उस वैन के अंदर किचन, फ्रिज रखने की जगह सहित कई चीजें रखने के लिए उसका डिजाइन करवाया. जब सारी चीजों की व्यवस्था उसके अंदर हो गई, तो वह उसी वैन के अंदर रहने लगीं. 

वैन हर जगह घूमती है

कैटरीन अपने वैन से हर शहर घूमते रहती हैं. कभी पर्वत के ऊपर रात भर रहती हैं, तो कभी घाटियों के बीच, उन्हें इस तरह का जीवन अधिक पसंद है. कैटरीन का कहना है कि, "मैं एक विशाल खाली घर में अकेले रहकर उब चुकी थी. मुझे अपने आस-पास लोग चाहिए, उनका साथ चाहिए, इसलिए मैंने ये निर्णय लिया है. मैं यह सब अपने अंदर के बच्चे को खुश करने के लिए कर रही हूं. मुझे यात्रा करना अधिक पसंद है. और यह मेरा अब तक का सबसे बढ़िया फैसला है. मैं उस हादसे के बाद बहुत आजाद ख्याल की बन गई हूं. मैंने कई नए दोस्त बनाए हैं. यहां तक ​​कि उनके साथ डेट पर भी गई हूं." 

आपकी राय !

हमारे राज्य में औद्योगिक मजदूरों के हित में क्या कानून है

मौसम